एसपीएम परिचालन

कोचिन पोर्ट में एस.पी.एम. परिचालन पर सूचना
अवस्थिति: मेसर्स बी.पी.सी.एल. (केआर) के सिंगल पॉइंट मूरिंग की स्थिति कोचिन पोर्ट की सीमा 09o 59 '49.93 "N अक्षांश एवं 076o 02' 30.73" E देशांतर रेखा के मध्य है।


स्वीकार्य वेसल मानदण्ड:

मानदण्ड

न्यूनतम

अधिकतम

कुल लम्बाई (एलओए)

229 एम

370 एम

जहाज के अग्रभाग की लम्बाई (बीटीएम)

80 एम

220 एम

विस्थापन

77,000 एम/टी

340,000 एम/टी

ड्राफ्ट (खारा पानी)

 

22.5 एम

बीम

 

58 एम

बो मूरिंग फ़ेयरलेड में फ्रीबोर्ड

 

26 एम

मानिफोल्ड में फ्रीबोर्ड

 

24 एम

एस.पी.एम में बर्थिंग के लिए जहाजों की स्वीकार्यता:
बी.पी.सी.एल.(के.आर.) ने एस.पी.एम में आने वाले जहाजों के लिए एक प्रश्नावली तैयार की है। और उसी की एक प्रति या 'क्यू88' पोत की एक प्रति इस कार्यालय को हार्ड कॉपी में या ई-मेल द्वारा hm@cochinport.gov.in पर भेजी जा सकती है और जहाज़ के विवरणों की जांच के बाद स्वीकृति दी जाएगी।
आंकरेज:
       एस.पी.एम में निपटान हेतु आनेवाले जहाज़ एस.पी.एम. के 2.5 मील दक्षिण में लंगर डालते हैं।


पायलट बोर्डिंग:
पायलट पानी से लगभग 4.5 मीटर ऊपर सीढ़ी से टॉग पर सवार होंगे। जहाजों को दोनों गैंगवे को बाहर रखना है और नीचे उतारा जाना है। एक बार गैंगवे के साथ टॉग आने के बाद पायलट के चढ़ने के लिए नीचे उतारा जाएगा। प्रतिकूल मौसम के दौरान, एक पायलट लैडर या पर्सोनेल बास्केट का उपयोग किया जा सकता है।


पायलटेज:
पोर्ट पायलट बॉय से लगभग 2.5 मील की दूरी पर टैंकर पर बोर्ड करेगा एवं पायलट वी.एच.एफ द्वारा पोर्ट कंट्रोल से टैंकर को उचित निर्देश देंगें। यह पायलट मूरिंग पूरा होने तक टैंकर पर सवार रहेगा और पुल संचालन की निगरानी करेगा एवं कार्गो परिचालन पूरा होने पर वही पायलट टैंकर से उतर कर वापस आएगा। इसलिए अग्रिम में टैंकर की नौकायन के लिए पायलट को बुक करना क्रिटिकल नहीं है क्योंकि पायलट पहले से ही बोर्ड पर होता है, हालांकि नौकायन कार्यक्रम में प्रतिबिंबित करने के लिए चलन को बर्थिंग मीटिंग में घोषित किया जाना चाहिए।


संचार: कोचिन पोर्ट नियंत्रण कार्य वी.एच.एफ. चैनल 15 पर किया जाता है एवं चैनल 16 एवं 15 की निगरानी किया जाता है और चैनल 13 पर टॉग एवं बीपीसीएल नियंत्रण के साथ एसपीएम संचार भी किया जाता है।  


मूरिंग व्यवस्थाएँ:
जहाज़ को दो 76 मिमी चेन (ओसीआईएमएफ टाइप-बी) का उपयोग करके एस.पी.एम. तक मूरिंग किया जायेगा। जहाज़ों को मूरिंग से गुजरने के लिए दो मुक्त मूरिंग ड्रम तैयार करने हेतु मैसेंजर लाइनों के साथ आगे की ओर बो स्टॉपर्स और फेयरलेड्स के माध्यम से रील किया जाना है और फोरकास्ट्ल के ब्रेक पर स्टैंडबाय रखा जाना है।


मूरिंग/अन-मूरिंग प्रतिबंध:
एस.पी.एम. के लिए टैंकर के मूरिंग केवल दिन के प्रकाश में किया जाएगा, अतः एक जहाज को आना चाहिए और 1600 बजे से पहले पायलट को बर्थ के लिए सक्षम होने के लिए बोर्ड करना चाहिए। बाद में आने वाले जहाज़ को अगले दिन के पहले प्रकाश में (पायलट बोर्डिंग 0600 बजे) पर बर्थ किया जाएगा और चूंकि पायलट पहले से ही जहाज पर है, जैसे ही जहाज नौकायन के लिए तैयार होगा हर घंटें अन-मूरिंग परिचालन शुरू किया जाएगा।


होज कनेक्शन:
                 टैंकर के पोर्ट साइड मैनिफोल्ड में 16 इंच के दो नंबर होज़ जुड़े होंगे। एच.पी. कनेक्शन गियर/चालक दल एस.पी.एम के एप्रोच के दौरान टैंकर में बोर्डिंग करेगा और जहाज के क्रेन का उपयोग गियर उठाने के लिए किया जाएगा।


टॉग परिचालन:
 एसपीएम संचालन के लिए 50/60 टन बोल्डर्ड पुल के दो किराए के टॉगों का उपयोग निम्नानुसार किया जाता है:
दोनों टॉग पायलट बोर्डिंग समय से लगभग 2 घंटे पहले आंतरिक बंदरगाह से इनबाउंड टैंकर के लिए आगे बढ़ेंगे। टैंकर पर चढ़ने के लिए आवश्यक सभी अधिकारियों, सर्वेक्षणकर्ताओं और अन्य व्यक्तियों को निर्धारित समय से पहले टॉग पर चढ़ना है।
मूरिंग परिचालन पूरा होने के बाद, एक टॉग पूल बैक संचालन के लिए टैंकर पर रहेगा और कार्गो ऑपरेशंस के पूरा होने पर एसपीएम से टैंकर को अन-मूरिंग करके पायलट को डिस्क्राइब करके वापस आएगा।
दूसरा टॉग टैंकर के मूरिंग के बाद वापस आएगा।     

 
टैंकर में सवार हुए शोर कार्मिक:          
टैंकर में सवार हुए शोर कार्मिकों के पास उचित पहचानपत्र होने चाहिए एवं आई.एस.पी.एस.कोड द्वारा यथा अपेक्षित उसको प्रदर्शित करेंगें।
इन कार्मिकों को बाहरी हार्बर में जहाज़ों के बोर्डिंग के समय मौजूद असुविधाओं एवं खतरों का ज्ञान होना चाहिये। केवल पायलट लैडर द्वारा बोर्डिंग करने में सक्षम (यदि समुद्र की स्थिति इसकी मांग करती है) को टैंकर को भेजा जाना चाहिए।
जहाजों के संचालन में सीधे तौर पर शामिल होने वाले केवल निम्नलिखित व्यक्तियों को किराए के टगों का उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी, जब वे जहाज संचालन के लिए लगे हों:

  • पोर्ट पायलट            
  • मरीन मास्टर सहित बी.पी.सी.एल. (के.आर.) के प्रतिनिधि
  • शिप के एजेंटों के प्रतिनिधि
  • सीमाशुल्क के प्रतिनिधि
  • आप्रवासन के प्रतिनिधि
  • कार्गो सर्वेयर               

    उपरोक्त सूचीबद्ध व्यक्तियों के अलावा अन्य व्यक्तियों, यदि आवश्यक हो तो एस.पी.एम.परिचालन हेतु आवश्यक हो, पोर्ट नियंत्रण से पूर्व अनुमति के साथ टॉग पर चढ़ने की अनुमति दी जा सकती है।  
टैंकर से/के लिए स्थानांतरण करने के इच्छुक कोई भी व्यक्ति दूसरे टॉग का उपयोग कर सकता है,  हालाँकि यह समझना चाहिए कि टॉग अनिवार्य रूप से मूरिंग परिचालन के लिए हैं और इन टॉगों के प्रस्थान में देरी नहीं की जा सकती है।   टॉगों की प्रतीक्षा करने की उम्मीद नहीं की जा सकती है और इसके प्रस्थान से पहले आने में असमर्थ किसी भी व्यक्ति को वैकल्पिक व्यवस्था करनी होगी। यह भी स्पष्ट रूप से समझा जाना चाहिए कि इस परिवहन का उपयोग करने वाले व्यक्ति अपने जोखिम पर करते हैं और पोर्ट, टैंकर से या उसके लिए स्थानांतरण के लिए टॉग का उपयोग करने वाले किसी भी व्यक्ति को किसी भी चोट या नुकसान के लिए किसी भी दायित्व को स्वीकार नहीं करेगा।  


मूरिंग एवं ऑनमूरिंग परिचालनों के किसी भी उद्देश्य के लिए जहाज़ों द्वारा टॉगों के उपयोग हेतु यथा योग्य प्रभार लागू किया जायेगा।
टैंकर के बोर्ड में रहने वाले तट कार्मिकों: निम्नलिखित व्यक्ति एस.पी.एम में रहने की अवधि के लिए टैंकर पर सवार रहेंगें और जहाजों को उनके रहने के दौरान आवास और भोजन प्रदान करने की सलाह दी जाती है।


पोर्ट पायलट

1 सं.

 अधिकारी

मराईन मास्टर

1 सं.

निवास

कार्गो सर्वेयर

1 सं.

 

होज हैण्डलिंग क्रू

5 सं..

 

                
जहाज़ के निर्गमन के लिए दस्तावेज: एस.पी.एम. पोर्ट और लंबे जहाज़ की सवारी से बड़ी दूरी को देखते हुए एजेंटों को जावक निकासी के प्रयोजन के लिए मूल दस्तावेजों के बदले में पोर्ट पायलट या जहाज के मास्टर द्वारा सत्यापित जहाज़ के दस्तावेजों की फोटोकॉपी प्रस्तुत कर सकते हैं।


आगे की स्पष्टीकरण, यदि कोई हो, हार्बर मास्टर (hm@cochinport.gov.in) से मांगी जा सकती है।

 

Last updated :: 09/06/2020, -17:04
एलएनजी परिचालन

कोचिन पोर्ट में कोच्ची एलएनजी टर्मिनल(पेट्रोनेट एलएनजी लि.) के परिचालन संबंधी सूचना
कोच्ची एलएनजी टर्मिनल जेट्टी और ट्रेस्टल पोर्ट क्षेत्र के पश्चिमी छोर पर स्थित है और 260,000 एम 3 (क्यू-मैक्स एलएनजी टैंकरों) तक विस्तार प्रावधानों के साथ 65,000 से 216,000 m3 (क्यू-फ्लेक्स एलएनजी टैंकर) से एलएनजी टैंकर प्राप्त करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।


एलएनजी बर्थ पैरामीटर


जहाज़/बर्थ मानदण्ड

बर्थ सीमाएँ

जहाज़ के अधिकत्तम सामूहिक लम्बाई

320 एम

अनुपार्श्व अधिकतम स्वीकार्य ड्राफ्ट

12.5एम

अधिकतम बीम

50.0 एम

आगमन पर अधिकतम जहाज़ विस्थापन

150500 एमटी

अधिकत्तम क्यूबिक क्षमता (एलएनजी)

2,16000 एम3

जेट्टी संरेखण

0630 - 2430

जहाजों की स्वीकार्यता: टर्मिनल में एक मानक एलएनजी जहाज अनुमोदन और स्वीकृति प्रक्रिया है। टर्मिनल दस्तावेज़ "एलएनजी जहाज़ अनुमोदन प्रक्रिया" में प्रक्रिया का विवरण है। केवल उन जहाजों को जो उपरोक्त दस्तावेज़ में विस्तृत प्रक्रिया से गुजरते हैं, को पीएलएल द्वारा कोचिन एलएनजी टर्मिनल पर अपने एलएनजी कार्गो को उतारने के लिए मंजूरी दे दी जाएगी।
एंकोरेज: निपटान के लिए आने वाले एलएनजी टैंकरों को फेयरवे बॉय के आसपास के क्षेत्र में नामित लंगर क्षेत्र के अंदर लंगर डालना चाहिए। "कोचिन पोर्ट कंट्रोल" द्वारा आगमन पर उसे आवंटित किया जाएगा।


पायलट बोर्डिंग: फेयरवे बॉय के आसपास के क्षेत्र में पायलट बोर्ड के जहाज। पायलट सीढ़ी द्वारा ली तरफ एक टॉग नाव से सवार होंगे। वीएचएफ संचार सीमा के मध्य जहाज की सीढ़ी की ऊंचाई की पुष्टि की जाएगी, जहाजों को दोनों गैंगवे को बाहर रखा जाता है और नीचे उतारने के लिए तैयार किया जाता है।
पायलटेज: जहाज़ में बोर्डिंग होने पर, पायलट मास्टर के साथ पायलटेज और बर्थिंग/अनबर्थिंग प्लान पर चर्चा करेगा। जहाज़ के पायलट व मास्टर जहाज के पास या जाने से पहले इनबाउंड या आउटबाउंड मार्ग के लिए मार्ग योजना पर हस्ताक्षर करेंगे।


संचार: कोचिन पोर्ट नियंत्रण कार्य वी.एच.एफ. चैनल 15 पर किया जाता है एवं कोच्ची एलएनजी टर्मिनल के चैनल 16 एवं 15 की निगरानी और चैनल 12 पर दोनों चैनलों के कार्यों निगरानी भी करता है।


उत्तरी स्पर बंड लाइट एक प्रकाश को जेट्टी के पश्चिम में स्थापित किया गया है। दिन का निशान: पश्चिम कार्डिनल, शीर्ष चिह्न के साथ काली पट्टी के साथ पीला - दो काले शंकु; एचटी. एमएसएल विशेषताओं पर: 5.5 मी: क्यू एफएल (9) 15 सेकेंड, 5 एनएम


जेट्टी वार्निंग लाइट्स जेट्टी चेतावनी लाइट्स की स्थापना एमडी 1 और एमडी 7 पर तय स्टील के खंभों पर की जाती है, जिन्हें पीले और काले क्षैतिज बैंड के साथ चित्रित किया जाता है। एचटी. एमएसएल पर 8 मी. विशेषताएं: एफएल.ईवी. 8 सेकंड, 5 एनएम


मूरिंग व्यवस्था: टर्मिनल पर सामान्य मूरिंग पैटर्न 3-3-3 (3 हेडलाइन/स्टर्न लाइन्स, 3 ब्रेस्ट लाइन्स और 3 स्प्रिंग्स) जहाज के अग्र एवं पश्च भाग में है, हालाँकि, मास्टर को अगर वह समझता है कि ऐसा करना समझदारी है, मूरिंग लाइनों की संख्या बढ़ाने में संकोच नहीं करना चाहिए। संगतता अध्ययन के दौरान मूरिंग विश्लेषण के आधार पर जहाज विशिष्ट मूरिंग योजना को अंतिम रूप दिया जाएगा।


आर्म कनेक्शंस: टर्मिनल को 3 एलएनजी अनलोडिंग आर्म्स और 1 वाष्प आर्म के साथ लगाया गया है। हथियारों का नाम पूर्व से पश्चिम के रूप में दिया गया है: आर्म "ए" (लिक्विड), आर्म "वी" (वाष्प), आर्म "बी" (लिक्विड), और आर्म "सी" (लिक्विड)।


नाममात्र व्यास: 16 इंच फ्लेंज मानक: एएनएसआई 150 एफएफ
क्यूसी/डीसी: एक "चिकसन III क्रायो" हाइड्रॉलिक रूप से संचालित त्वरित कनेक्ट/डिस्कनेक्ट कपलिंग (क्यूसी/डीसी) हरेक आर्म पर स्थापित किया गया है।
आपातकालीन निकासी प्रणाली: प्रत्येक आर्म में दो बॉल वाल्व के बीच स्थापित एक संचालित इमरजेंसी रिलीज़ कपलर (पीईआरसी) से लैस है। उपकरण पहले हथियारों की निकासी के बिना एक त्वरित वियोग की अनुमति देता है।


टॉग चलन: एलएनजी जहाजों के आकार के आधार पर परिचालन के लिए निम्नलिखित बोल्डर्ड पुल के अधिकतम चार टॉगों का उपयोग किया जाता है।
45  to 50 टी  - 2 संख्या  एवं 60 टी - 2 संख्या


पीएस: कोच्ची एलएनजी टर्मिनल को आने वाले सभी जहाजों को पूर्व निर्धारण चरण के दौरान विस्तार टर्मिनल सूचना मैनुअल प्रदान किया जाएगा।
आगे स्पष्टीकरण, यदि कोई हो, हार्बर मास्टर (hm [at] cochinport [dot] gov [dot] in) या Petronet LNG Ltd. (shipping [at] petronetlng [dot] com)) से मांगा जा सकता है।

 

Last updated :: 09/06/2020, -16:59